Waham | Mid Night Diary | Akanki Sharma | Writer Saahiba

वहम | एकांकी शर्मा | राइटर साहिबा

मुझको अकसर आजकल ये वहम होता है
शायद उसने मुझसे नाता तोड़ दिया है

सालों सफ़र में वो साथ था मेरे
पर अब शायद तन्हा छोड़ दिया है

ये इलज़ाम था कि भरोसा तोड़ा है मैंने
कब कैसे सोच मैंने सिर फोड़ दिया है

ये जो दर- ब-दर भागते फिरते हैं लोग
कोई तो बतलाये आख़िर ये लोड़ क्या है

जो गुज़र रहा है सौ राहों से ये
क्या मालूम इस रिश्ते का अगला मोड़ क्या है

 

-एकांकी शर्मा 

 

Akanki Sharma (Writer Saahiba)
Akanki Sharma (Writer Saahiba)

820total visits,1visits today

Leave a Reply