Tag: Shridhar Nath Gandhi

Matrabhoomi | Mid Night Diary | Shridhar Nath Gandhi
Poetry

मातृभूमि | श्रीधर नाथ गाँधी

धन्य हूँ में , इस धन्य धरा पर , मेंने जन्म लिया । जिसका शीष हिमालय , चरणों में सागर , मेंने ऐसी अनुपम धरा पर जन्म लिया । जहाँ राम हुए जहाँ बुद्ध हुएContinue reading

Naman - Hindi Divas Special | Mid Night Diary | Shridhar Nath Gandhi
Poetry

नमन | श्रीधर नाथ गाँधी | हिंदी दिवस स्पेशल

इस भारत भूमि के जन-जन की स्वासों मे बसती हिन्दी को नमन में करता हूँ। यहां की हर बात मे हिन्दी होने की बात को नमन में करता हूँ। 52 वर्णों और देवनागरी लिपि वालीContinue reading

Uncategorized

गुरुदेव नमामि | श्रीधर नाथ गाँधी | टीचर’स डे स्पेशल

है सभ्य समाज निर्माता , ज्ञान के तुम हो दाता। हमे आशीष अपना देदो, जग मे ज्ञान जगाने वाला ।। हम सब तो थे अज्ञानी, तुमने ही मार्ग दिखाया । मेरे जीवन को सार्थक कर,Continue reading