Tag: Short Story

Intzaar Us Pal Ka | Mid Night Diary | Upasana Pandey
Short Stories

इंतजार उस पल का | उपासना पाण्डेय

मेरी डायरी का पन्ने का हिस्सा-‘इंतजार’ तुम जब भी रूठने की कोशिश करते हो मैं तुम्हे आवाज देती हूँ, ‘राजीव’ सुनो न जब भी उससे ऐसे बोलती हूँ तो, वो पलटकर मुस्कुरा देता है जैसेContinue reading

Maa Ka Pyaar | Mid Night Diary | Anupriya Agrahari | Mother's Day Special
Short Stories

माँ का प्यार | अनुप्रिया अग्रहरि | मदर’स डे स्पेशल | #अनलॉकदइमोशन

“माँ उठो न माँ देखो न आपकी कशिश आयी है आपके पास उठो न माँ” 5 साल की कशिश अपनी माँ को उठाते हुए बोली। पर माँ कहाँ उठने वाली थी वो तो जा चुकीContinue reading

Safed Rang | Ankit Singh Chandel | Mother's Day Special
Short Stories

सफेद रंग | अंकित सिंह चन्देल | मदर’स डे स्पेशल | #अनलॉकदइमोशन

आज मैंने अपने ऑफिस से जल्दी छुट्टी ले ली थी। हंसते मुस्कुराते हुए मैं मेरी कार के रेडियो पर बजरहे सन् नाइनटीस के गानों को खुद भी अपनी फटी आवाज में गुनगुनाते हुए मैं घरContinue reading

Short Stories

भागी हुई लड़कियाँ | भावना त्रिपाठी

कैसा नकारात्मक शब्द है न भागना! जैसे कायरता को परिभाषित कर रहा हो। पीठ दिखा कर भाग जाना कोई बहादुरी का काम है भला? कितनी भी मुसीबत हो, मुश्किल हालातों का डटकर सामना करना चाहिए,Continue reading

Ekakipan | Mid Night Diary | Raushan Suman Mishra
Short Stories

एकाकीपन | रौशन ‘सुमन’ मिश्रा 

रात के साढ़े आठ बज रहे हैं। दरवाजे पर डिबिया से आ रही हल्की रोशनी में अकेला सो रहा हूँ। झींगुर की झनझनाती आवाज मानों की मन में एक डर को पैदा कर रही है,Continue reading

Khel Jism Ka | Mid Night Diary | Hridesh Kumar | #UnlockTheEmotion
Short Stories

खेल जिस्म का | हृदेश कुमार | #अनलॉकदइमोशन

भागते भागते चबूतरे से नीचे उतर कर कुनाल ने हस्ते हुएे अपनी बड़ी बहन अंजली को पीछे देखा और अपने दोनो हाथो के अंगुठे को उसकी तरफ हिलाते हुये चिडाने लगा ,और बोला दीदी देखोContinue reading

Ekkees Din | Mid Night Diary | Gopal Yadav
Short Stories

इक्कीस दिन – एक मधुर पीड़ा | गोपाल यादव

सर्दी कुछ ख़ास नहीं थी फिर भी कॉलेज में सेमेस्टर एग्जाम के बाद हुए इस विंटर वेकेशन का एक दिन मैं अरविंद के साथ बिताना चाहता था। अरविंद जो कि एक शांत किस्म का इंसानContinue reading

Shahrikaran - Vardaan Ya Shraap | Mid Night Diary | Raushan Suman Mishra
Short Stories

“शहरीकरण” वरदान या शाप? | रौशन ‘सुमन’ मिश्रा

गाँव के पुरबारी मोहल्ले में एक नरायण बाबू थें। कहा जाता है कि गाँव की सत्तर फीसदी जमीन उनकी ही थी। यही नहीं गाँव के दस कोस में उनके सम्पति के बराबर वाला कोई नहींContinue reading

Paramatma Ke Sandesh | Mid Night Diary | Raghv Bharat
Short Stories

परमात्मा के सन्देश | राघव भरत

चलने से पहले आवाज़ यक़ीनन दी होगी उसने, यूँ ही कहाँ कोई ख़्वाबों में दस्तक देता है। आज नहीं कुछ दिनों बाद मिल लूंगा जाकर अभी मौसम बहुत सर्द है ,पहाड़ की बात और हैContinue reading

Halchal Almaari Ke Andar Ki | Bhavna Tirange Ki | Manjari Soni
Short Stories

हलचल अलमारी के अंदर की| भावना तिरंगे की | मंजरी सोनी

”सारा सामान निकाल कर जॉंच लो और जमा दो,ध्‍यान र‍हे कल सुबह कुछ परेशानी ना हो।” जैसे ही ये आवाज़ आई अलमारी के अंदर कुछ हलचल सी होने लगी। अलमारी में रखा तीरंगा मुस्‍कुराया औरContinue reading