Tag: Prajjval Nira Mishra

Wo Bachpan Ab Bhi Yaad Hai Mujhe | Mid Night Diary | Prajjval Nira Mishra
Poetry

वो बचपन अब भी याद है मुझे | प्रज्ज्वल नीरा मिश्रा

जब सुबह सुबह, चाय गैस पे होती थी और माँ गुसलखाने में। हर रोज़ की तरह धीमी आंच पर यूँ ही चाय खौल रही होती थी। पापा आवाज पे आवाज लगा रहे होते थे। -“अरेContinue reading