Tag: Poetry

Jab Se Meri In Aankhon Par Teri Julfon Ka Saya Ho Gaya Hai | Mid Night Diary | DInesh Gupta
Poetry

जब से मेरी इन आँखों पर तेरी जुल्फों का साया हो गया है | दिनेश गुप्ता

जब से मेरी इन आँखों पर तेरी जुल्फों का साया हो गया है प्यार-इश्क-मुहब्बत में कितना वक्त जाया हो गया है एक सख्श आज भी दिल के उतना ही करीब है बेशक ज़माने को लगताContinue reading

Hum Jo Honthon Par Itni Muskaan Liye Baithe Hain | Mid Night Diary | DInesh Gupta | #UnlockTheEmotion
Poetry

हम जो होठों पर इतनी मुस्कान लिए बैठे हैं | दिनेश गुप्ता | #अनलॉकदइमोशन

हम जो होठों पर इतनी मुस्कान लिए बैठे हैं सीने में ग़मों का तूफान लिए बैठे हैं आप जो हमसे इतना अनजान हुए बैठे हैं आप तो हमारी जान ही लिए बैठे हैं एक वोContinue reading

Ishq Me Aksar Kitne Ehsaan Reh Jate Hain | Mid Night Diary | DInesh Gupta | #UnlockTheEmotion
Poetry

इश्क में अक्सर कितने एहसान रह जाते हैं | दिनेश गुप्ता | #अनलॉकदइमोशन

जख़्म भर जाते हैं चोट के निशान रह जाते हैं इश्क में अक्सर कितने अहसान रह जाते हैं बेशक जान लेता है सारा जमाना इश्क में मगर अक्सर हम खुद से ही अनजान रह जातेContinue reading

Poetry

मैं तकलीफें सह लूंगा | धर्मेंद्र सिंह | #अनलॉकदइमोशन

अंबर से बदरी छट जाये, फूलों की रंगत उड़ जाये जो रात न तन्हा कट पाये, पास मेरे आ जाना तुम बिस्तर पे तुम सो जाना, मैं सोफे पे ही रह लूंगा तुम आराम कोContinue reading

Wo Ladki | Mid Night Diary | Dharmendra Singh | #UnlockTheEmotion
Poetry

वो लड़की | धर्मेंद्र सिंह | #अनलॉकदइमोशन

वो पास वाले मेरे…घर में ही रहती थी न बोलती जुबां से, वो नैनों से कहती थी फिर एक दिन वो चली गई, मुझे बिन बताये हम घूमते थे फ़कीर से…दौलत लुटाये उसके जाने केContinue reading

kahin Na Kahin | Mid Night Diary | Anchal Shukla | #UnlockTheEmotion
Poetry

कहीं ना कहीं | आँचल शुक्ला | #अनलॉकदइमोशन

मेरे ना होने पर तुम्हें भी मेरी कमी तो खलेगी कहीं ना कहीं तुम कितना भी जताओ की तुम्हें कोई फ़र्क नहीं पड़ता फ़िर भी एक तपिश तो रहेगी कहीं ना कहीं मेरे ख़याल सेContinue reading

Poetry

पहली मुलाक़ात | आँचल शुक्ला | #अनलॉकदइमोशन

वो पहली मुलाक़ात हम थे कुछ पल साथ वो भी मुझे बार-बार झपकती हुई पलकों से अपनी आँखों में कैद कर रहे थे.. और मैं भी शरमा कर थोड़ी-थोड़ी उनमें गुम हो रही थी… दिलContinue reading

Tab Main Aazaad Kehlaau | Mid Night Diary | Gaurav Singh | #UnlockTheEmotion
Poetry

तब मैं आज़ाद कहलाऊँ | गौरव सिंह | #अनलॉकदइमोशन

फिर उठी आजादी की बात, हमने भी कह दिया हम आज़ाद है। जब नज़र पड़ी उन हाथो पर, उठाये थे बोझ कच्ची उम्र में, “क्या ये आज़ाद कहलाये है?” जब नज़र पड़ी उस तराज़ू पर,Continue reading

Chalo Bhikher Dete Hain | Mid Night Diary | Aradhana Shukla | #UnlockTheEmotion
Poetry

चलो बिखेर देते हैं | आराधना शुक्ला | #अनलॉकदइमोशन

चलो आज बिखेर देते हैं, तुम्हारे साथ बीता हर पल, हर लम्हा मन की पिटारी से निकालकर शायद ये उदास लम्हे फिर से खिलखिला उठें। चलो आज तुम्हारी बातों को फिर से दोहराते हैं तुम्हारीContinue reading

Poetry

ज़िन्दगी | मोहित चौहान | #अनलॉकदइमोशन

कैसी है ये ज़िन्दगी कभी अनजानों को पास लाती है, तो कभी अपनो को दूर ले जाती है, कभी खुशियों की बरसात तो कभी ग़मो का सेलाब लाती है ना जाने, कैसे कैसे रंग दिखातीContinue reading