Tag: Megha Singh

Kuch Nhi | Mid Night Diary | Megha Singh
Poetry

Kuch Nhi | Megha Singh

अक्सर तुम शाम को घर आ कर पूछते आज क्या क्या किया?? मैं अचकचा जाती सोचने पर भी जवाब न खोज पाती कि मैंने दिन भर क्या किया आखिर वक्त ख़्वाब की तरह कहाँ बीतContinue reading