Tag: Anupama verma

Baarish | Mid Night Diary | Anupama verma
Love, Poetry

बारिश | अनुपमा वर्मा

धरती पर आज फिर, बूंदो की चादर बिछी मोहब्बत बेहिसाब है, कि नजर हटती ही नही बूंदो की फुहार से, धरती को फिर राहत मिली हमे मिली ना राहत, पर उम्मीद तो मिल ही गयीContinue reading