Tag: Aman Singh

Benaam Khat, Micro Tales

Manmarziyan

पहले मैं कुछ और सोच रहा था, लेकिन अब कुछ और सोच रहा हूँ.. पर यह सोचना भी कितना मुश्किल है कि ऐसा क्या सोच रहा हूँ कि जिसके लिए इतना सोचना पड़ रहा है।Continue reading

Tumhari Aankhein
Benaam Khat, Love, Micro Tales, Short Stories

Tumhari Aankhein

बातें करना कोई तुमसे सीखे, कुछ न कहकर भी कितना कुछ बोल जाती हो तुम। हर बात को लफ़्ज़ों में कहा जाये ये जरूरी नहीं, और हर बात को शब्दों से बाँध कर कागज़ परContinue reading

muskaan love
Benaam Khat, Micro Tales

Muskaan

बारिश के इस मौसम में खुद को भीगने से बचाना जितना मुश्किल है, उतना ही मुश्किल है तुमसे नज़रें चुराना.. तुम सामने हो और तुम्हें न देखूं, कोशिश तो हर बार करता हूँ पर, खुदContinue reading

OneGoOneImpact
#OneGoOneImpact, Benaam Khat, Love, Micro Tales, Short Stories

Nannhi Khushiyaan

अभी तक यही जानता था कि खुशियाँ खरीदी नहीं जा सकती और न ही सुकून की कोई कीमत लगाईं जा सकती है लेकिन, लेकिन यह सच भी कितना गलत निकला बिल्कुल उसी बात की तरहContinue reading

Love Dard
Benaam Khat, Love, Micro Tales, Short Stories

Dard

मेरे होठों से बिखरे हुए लफ्ज़ जब कभी तुम्हारी यादों को समेटने की कोशिश करते हैं तो बस मेरी पलकों से भावनायों के बाँध टूट जाते हैं। दिल बेशक़ ही ज़ोरों से धड़कता है लेकिनContinue reading

mohabbat
Benaam Khat, Love, Micro Tales, Short Stories

Mohabbat

मुझे लगता है, हम एक दूसरे को बेहतर तरीके से समझते हैं। हाँ शायद… उसने कह कर मुंह फेर लिया। पर मैं चाहता हूँ, थोड़ा और वक़्त.. उसने बात काटते हुए कहा, देख लो, कहींContinue reading

Ehsaas!
Benaam Khat, Love, Micro Tales, Short Stories

Ehsaas!

मैं चाहता हूँ, उसे हर बात से एहसास हो कि मैं ही नहीं, मेरी पूरी दुनिया उसकी मुन्तज़िर है। उसे कहना कि मेरे दिल की गुस्ताखियों को नज़रंदाज़ कर दे। माना कुछ अधूरी सी शिकायतेंContinue reading

Benaam Khat, Love, Micro Tales, Short Stories

‘Tum’hara Naam

एक तुम्हारे नाम के सिवाय मेरे पास था ही क्या.. जिसे मैं अपना कहता और आज भी तेरे नाम के सिवाय मेरा है ही क्या जो मेरा है। एक तुम्हारा नाम ही था जिसे खुद सेContinue reading