माय बेस्ट ‘गर्ल’फ्रेंड | अमन सिंह

बड़ी अजीब बात हैं न, कि सभी यही कहते हैं कि दोस्ती प्यार की शुरुआत होती है लेकिन फिर भी अक्सर सुनने में आता है, कि एक लड़की और एक लड़का कभी दोस्त नहीं हो सकते…. हो सकता है यह बात सच हो लेकिन इसमें कितनी सचाई है, इस बात पर आप खुद ही गौर कीजिये। ज़रा दो मिनट रुकिए और एक बार सोचिये कि इस बारे में आपका मन क्या कहता है ? आ गया न जहन में उसी शख्स का ख्याल जिसे आप दिलों जान से चाहते हैं।

चलिए अच्छा अब दो मिनट और रुककर फिर सोचिये, और खुद से पूँछिये… क्या आपको उस शख्स से मिलते ही प्यार हो गया था? शायद नहीं क्यूँ सच है न? वैसे ही प्यार भी दोस्ती की राह से गुजरता है? अब बताइये किसकी सुनेंगे आप? अपने आपकी या उन लोगो की जिनसे आपका कोई वास्ता भी नहीं है। माना एक लड़की और लड़का दोस्त नहीं हो सकते, और अगर यह सच है, तो उनमे प्यार तो नामुमकिन है। क्यों कि जहाँ दोस्ती है वहाँ प्यार हो सकता है लेकिन जहाँ दोस्ती नहीं है वहां कुछ भी नहीं हो सकता।

वैसे कहने को तो प्यार, दोस्ती एक एहसास ही हैं, अगर आप इनको मानते हैं तो सच मानिये जिंदगी में इससे खूबसूरत और कुछ भी नहीं। वैसे एक तरफ़ा सच यह भी है कि लड़कों के मामले में लडकियां ज्यादा बेहतर दोस्त होती हैं। ऐसे ही मेरी जिंदगी में भी थी एक दोस्त, जो बस इस दुनिया की भीड़ में कहीं गुम हो गयी। वो ही थी मेरी सबसे अच्छी दोस्त, मेरे हर गुनाह में गुनहगार और मेरी हर मुश्किल में मददगार…

465total visits,3visits today

2 thoughts on “माय बेस्ट ‘गर्ल’फ्रेंड | अमन सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: