Mohabbat Me Hindi - Hindi Divas Special | Mid Night Diary | Akanki Sharma

मोहब्बत में हिंदी | एकांकी शर्मा | राइटर साहिबा | हिंदी दिवस स्पेशल

 “आज हिंदी दिवस है।”“जानती हूँ।”

“तो कुछ लिखो।”

“ज़रूरी है क्या?”

“इच्छा नहीं है तुम्हारी?”

“कैसी इच्छा?”

“आज के मौक़े पर कुछ ख़ास लिखने की।”

“इश्क़ के आगे-पीछे मैंने कभी कुछ लिखा है?”

“मुझे एक बात की हैरानगी है।”

“कौन-सी बात?”

“तुम इतना लिखती हो इश्क़ पे, लगता है कि तुम इस पे पीएचडी कर चुकी हो।”

“हाहा! काश कि इश्क़ कोई विषय होता जिसे हम सिर्फ़ हिंदी में ही पढ़ते।”
“क्यों?”

“जॉर्ज बेंसन के ‘नथिंग गोन्ना चेंज माय लव फॉर यू’ में वो खनक और दम कहाँ जो शक़ील बदायुनी साहिब के ‘जब प्यार किया तो डरना क्या’ में है।”

इक्कीसवीं सदी के ‘डिजिटल इंडिया’ में एक हिंदी ही तो है जो लोगों के भीतर उनके असली जज़्बातों को ज़िंदा रखे हुए है।

Akanki Sharma (Writer Saahiba)
Akanki Sharma (Writer Saahiba)

664total visits,1visits today

Leave a Reply