Main Aur Mera One Side Love | Mid Night Diary | Bhavna Tripathi | One Sided Love Micro Tale

मैं और मेरा वन साइड लव | भावना त्रिपाठी | वन साइडेड लव माइक्रो टेल

पता नहीं तुम्हें याद होगा भी कि नहीं
पर मुझे तो याद है सबकुछ, हाँ! सबकुछ

क्लास, कैंटीन, कैंपस, एनुअल प्रोग्राम,उसमें परफॉर्म करती तुम और तुम से जुड़ा सब,
क्योंकि मुझे ही तो था तुमसे,वह क्या कहते हैं वन साइडेड लव।

वह जब ग्रेजुएशन में हमारा एडमिशन हुआ था और फ़िर तुम्हें देखने के बाद मेरा पढ़ाई से distraction हुआ था।
तुम वहां स्टेज पर इंट्रोडक्शन दे रही थी और मैं यहां तुमको अपना दिल दे बैठा था।

हाय! तुम कित्ती क्यूट थी ना!!

हर लड़का तुमको देख कर आहें भरता था और मैं था जो तुम पर ऑलमोस्ट मरता था। (ऑलमोस्ट इसलिए क्योंकि पापा से डरता था)
वैसे ,मुझे याद हो तुम और तुमसे जुड़ा सब,
क्योंकि मैं ही तो करता था तुमसे वन साइडेड लव।

तुम्हें देखकर DDLJ और मोहब्बतें के गाने याद आते थे,
इश्क, मोहब्बत, प्यार टॉपिक थे जिस पर अब अपन करते बातें थे.

और ना जाने कब,बैठे बैठे रांझणा के कुंदन बन जाते थे
उस दिन जब तुम बगल में आकर बैठीे थी,

कसम से सेलिब्रिटी वाली फीलिंग आई थी,
फ़िर जब तुम मुझे देख कर हल्का सा मुस्कुराई थी,

तुमसे दो लाइन बोलने में लगभग 5 बार हकलाया था, न जाने क्यों दिसंबर के महीने में भी मुझे पसीना आया था।
हां!मुझे याद हो तुम और तुम से जुड़ा सब,
क्योंकि मैं ही तो करता था तुमसे वन साइडेड लव।

ना कभी दिल की बात कह पाया तुमसे,
ना कहने की कभी हिम्मत कर पाया।

अपने कंफर्ट जोन से बाहर नहीं आना चाहता था,
तुम्हारे सामने बनी उस इमेज को तोड़ना नहीं चाहता था।

ख़ैर, कुछ रास्तों की मंजिल नहीं होती,
हमेशा यही सोचता कि भला तुम मुझे अपना दिल क्यों देती।

वैसे एक बात कहूं-

मुझे अब भी याद हो तुम और तुम से जुड़ा सब
क्योंकि मैं आज भी करता हूँ तुमसे वन साइडेड लव।

 

 

-भावना त्रिपाठी 

 

Bhavna Tripathi
Bhavna Tripathi

618total visits,1visits today

4 thoughts on “मैं और मेरा वन साइड लव | भावना त्रिपाठी | वन साइडेड लव माइक्रो टेल

Leave a Reply