Maa Jeevan Ki Lay Hai | Mid Night Diary | Divyanshu Kashyap TEJAS

माँ जीवन की लय है | दिव्यांशु कश्यप “तेजस” | मदर’स डे स्पेशल | #अनलॉकदइमोशन

अगणित तानें हैं पर माँ जीवन की लय है।
खुशियों के आंसू और गलती का भय है।
और रिश्ते बहुत हैं इस दुनिया मे कहने को,
पर माँ यदि तुम हो तो इस जग की जय है।।

माँ तू हाथों की थपकी और भूखे का पय है।
माँ तू ममता की सरिता और गुस्से का क्षय है।
माँ तू अनुपम है, अविरल है, अतुलनीय है,
बिन तेरे माँ इस जीवन का पतन भी तय है।।

माँ तू दुःख का अस्त और सुख का उदय है,
बच्चे के खातिर माँ तू ही जीवित अव्यय है,
और जहाँ संधि-विच्छेद से परिपूरित है ये दुनिया,
वहाँ तू उपसर्ग मुश्किलों में और सुविधा में प्रत्यय है।।

देती आकार उन्नति को वह तू खांच-वलय है।
हर पीड़ा में राहत देने वाली तू ही वात मलय है।
और जब-जब छायी है प्रवृत्ति राक्षसी इस भूतल पर,
उनके मर्दन को तब तू ही चंडी काली महाप्रलय है।।

 

 

-दिव्यांशु कश्यप “तेजस”

 

Divyanshu Kashyap TEJAS
Divyanshu Kashyap TEJAS

169total visits,2visits today

Leave a Reply