माँ | आशीष कुमार लोधी

कभी-कभी मैं बेचैन हो जाता हूँ,
माँ से कही बातें सोचकर,
कि मैं सही हूँ |

पता नहीं,
शायद वो एक गायक हैं,
या एक मनोवैज्ञानिक,
जो मेरी आवाज़ के

गंभीर उतार – चढ़ावों को,
युँ शब्दों में उकेर लेती हैं,
बिना कुछ कहे ही,
हर किस्सा समझ लेती हैं |

अब मैं भी सीखुँगा गायिकी,
मैं भी सीखुँगा मनोविज्ञान,
कि रोक सकूँ मैं,

अपनी आवाज़ के गंभीर उतार – चढ़ावों को,
बहुत कुछ बयाँ करने से,
फिर मैं विश्वास से कह सकूँ,
हाँ, मैं सही हूँ |

 

-आशीष कुमार लोधी 

 

Ashish Kumar Lodhi
Ashish Kumar Lodhi

971total visits,1visits today

One thought on “माँ | आशीष कुमार लोधी

Leave a Reply