Kahne De | Mid Night Diary | Amita Gautam

कहने दे | अमिता गौतम

मत कर दूर खुद से, मुझे तेरे करीब रहने दे।
इन आंसू को मेरे तेरे दामन पर ही बहने दे।।
तुझसे लिपट कर अपना हर गम भुला दू,
और जो कहना है मुझे वो मुझे कहने दे।।

महरूम हो कर तुम्हारी चाहत से, कहाँ जायेगे?
रोयेंगे बहुत हम और मर जायेगे।
मेरी बातो में तेरा नाम मुझे लेने दे,
और जो कहना है मुझे वो मुझे कहने दे।

तस्वीर लगी है तेरी, मेरे दिल की दीवार मे,
सम्हलना कही टूट न जाये इस टकरार मे,
बहते हुए आसुओ को मेरे बहने दे,
और जो कहना हैं मुझे वो मुझे कहने दे।

हर हर्फ़ मे तेरा ज़िक्र लिए बैठे हैं,
सारे इलज़ाम हम बेफ़िक्र लिए बैठे हैं,
अब ये ताने ज़माने के मुझे सहने दे,
और जो कहना हैं मुझे वो मुझे कहने दे।

-अमिता गौतम

 

Amita Gautam
Amita Gautam

535total visits,2visits today

Leave a Reply