Kab Milega | Mid Night Diary | Musafir Tanzeem

कब मिलेगा | मुसाफिर तंज़ीम

दिल के हर कोने में ढूँढा मेरा यार कब मिलेगा
लुटा के निकला था सब कुछ ये क़रार कब मिलेगा

तलाश रहा हूँ जाने कहाँ कहाँ
मेरे ग़मो का मुझको मज़ार कब मिलेगा

हँस देते हैं सब मेरी खुशी पर
मेरे साथ रोने वाला सोगवार कब मिलेगा

सुन रहे हैं ज़माने भर की कहानियाँ
मेरी कहानी सुनाने वाला फ़साना-निगार कब मिलेगा

अब तो लगता है सब बेकार सा
महबूब की पहली झलक वाला ख़ुमार कब मिलेगा

जंग चाहे ज़िन्दगी की हो या इश्क़ की
हार जाता हूँ सबसे मुझे बदक़मार कब मिलेगा

 

-मुसाफिर तंज़ीम 

 

Musafir Tanzeem
Musafir Tanzeem

1346total visits,1visits today

Leave a Reply