Feri Walaa | Mid Night Diary | Ashish Kumar Lodhi

फेरी वाला | आशीष कुमार लोधी

वो घूम जाते हैं
पूरा बाजार,
और सीधा अपने घर।

मगर हाँ,
कभी-कभी खरीद लेते हैं,
दूसरे के जरूरत का सामान,
जैसे
कुछ रंग-बिरंगे गुब्बारे,
कभी खिलौने, कभी सब्जी,
कभी बर्फ का जखीरा,
कभी-कभी एक बाल्टी चने,
बेचने के लिए,
एक घर से दूसरे घर।

चिल्लाते नज़र आते हैं,
मगर अंदर से शांत-संतुष्ट,
जैसे
खरीद कर आएँ हों,
अभी-अभी पूरा बाजार,
अभी-अभी पूरी खुशियाँ,
और भी बहुत कुछ।

 

-आशीष कुमार लोधी

 

Ashish Kumar Lodhi
Ashish Kumar Lodhi

368total visits,1visits today

Leave a Reply