Category: Short Stories

A collection of Short Storeis

Short Stories

खत तुम्हारे नाम | रौशन ‘सुमन’ मिश्रा

सुनो प्रिय तुमसे एक बात कहनी थी लेकिन हमेशा से बेकाबू दिल पे काबू करते आया हूँ| तुम्हारे घर के सामने मेरी साईकिल का चैन उतरना भले ही तुम्हे “इत्तेफाक” लगता रहा हो, लेकिन मेरेContinue reading

RAJ! Naam To Suna Hi Hoga | Roshan 'Suman' Mishra | Comedy Tadka
Short Stories

राज! नाम तो सुना ही होगा | रोशन ‘सुमन’ मिश्रा | कॉमेडी तड़का

जनवरी की 5 तारीख… दूसरे दिन के अपेक्षा दूनी ठंढ़ महसूस हो रही थी सामने इतना कोहरा की हाथ भी नही सूझ रहा था इस सब के बीच स्कूल का पहला दिन…. पहला दिन काContinue reading

Lag Ja Gale | Mid Night Diary | Aman Singh
Benaam Khat

लग जा गले | अमन सिंह | #बेनामख़त

तुमने जब भी मुझे गले लगाना चाहा है, मैंने तुम्हारी बाहों में खुद को सौपने से पहले अपने हाथ खोलकर तुम्हें अपने सीने में छुपा लिया। मैं ऐसा सिर्फ इसलिये ही नहीं करता कि तुम्हारेContinue reading

Micro Tales

यह दुनिया ले देकर चलती है | जय वर्मा

बात यदि प्रेम की हो तो सभी के हृदयों में गुदगुदी होने लगती है।यहाँ प्रेम से अभिप्राय प्रणय से अर्थात स्त्री-पुरुष के आकर्षण सम्बन्धी सम्बन्धों से है। जैसे ही प्रेम की बात उठती है हरContinue reading

Micro Tales

शर्दी की एक शाम | सारांश श्रीवास्तव

सर्द मौसम था और हवा भी चुभने लगी थी अब, हालाँकि ये चुभन अच्छी भी लगती है। कोहरा और कोहरे को चीरते हुए रोज़ तुमतक आने का सुकून भी कुछ और ही होता है। रोज़ सुबहContinue reading

Short Stories

चिंटू | गोपाल

आज डोरेमॉन नोबिता को कौन सा गैजेट देगा। सुनियो नजाने कौन सी डींग हाँकने वाला है। जियान किस किस को पीटेगा। सिजुका के सामने कैसे आज नोबिता बड़ी बड़ी बातें करेगा। भीम का पाला किस्सेContinue reading

Micro Tales

काम ख़तम | मुसाफिर तंज़ीम

रात के 2 बज रहे थे।चारों तरफ सन्नाटा और गलियों में सरकारी लाइटों का उजाला छाया हुआ था। सुमित के घर की बेल लगातार बज रही थी,ऐसा लग रहा था जैसे कोई बड़ी मुसीबत में होContinue reading

Ek Shaam | Mid Night Diary | Aman Singh | The Last Meeting
Benaam Khat

एक शाम | अमन सिंह | आखरी मुलाक़ात

याद है तुम्हें, कुछ हफ्तों पहले.. शाम के वक़्त साथ बैठे हुये, तुमनें मेरा हाथ अपने हाथ में ले लिया था और मैं बिना एक लफ्ज़ कहे, आँखों के अश्क़ों से कितना कुछ कह गयाContinue reading

Ek Kagaj | Mid Night Diary | Avnish Kumar | #UnmuktIndia
#OneGoOneImpact, #UnmuktIndia

एक कागज | अवनीश कुमार | #उन्मुक्तइंडिया

“कागज़ दिखाओ गाड़ी के” ऐसा बोल कर किसी चौराहे पर खड़ा पुलिस वाला आते जाते लोगो से चाय पानी का जुगाड़ कर लेता है। मै किसी नेता की तरह कागज़ की इस दशा पर बातContinue reading

Mister Love | Mudit Bansal | 18+ Story | Trust In Relationship
Short Stories

मिस्टर लव | मुदित बंसल | 18+ कहानी

Disclaimer : इस कहानी के सभी पात्र और घटनायें काल्पनिक हैं, अगर इसकी किसी से/कही भी किसी तरह की समानता होती है तो इसे मात्र एक संयोग कहा जायेगा । In car…. Ring …Cell foneContinue reading