Baaton Ki Purani Si Nayi Painting | Mid Night Diary | Aditi Chatterjee | #UnlockTheEmotion

बातों की पुरानी सी नयी पेंटिंग | अदिती चटर्जी | #अनलॉकदइमोशन

बातों की पुरानी सी नयी पेंटिंग के कुछ रंग ज़रा चटकने लगे हैं, शायद मशरूफ है वो किसी दूसरे काम में…

मैंने कोशिश की कुछ रंगो को और मिलाकर ठीक उसे वैसा ही करने की जैसे वो कभी थी, जैसे वो है आज भी मेरी यादों के संदूक में बंद एक काली अँधेरी कोठरी में…

बहुत गौर से देखती रहती हूँ मैं अक्सर उसको दीवार पे टंगा हुआ.. हाँ! बहुत कुछ बदल तो गया है, वादों के रंग हलके हो गए हैं, थोड़ा सा घिस गया है महताब जिसमें अक्स दिखता था उसका, जो छोटा सा घर बना है उसके छत का रंग फ़ैल गया है और मुझे डर है की कहीं घर के अन्दर की दीवारें भी तो फ़ैल नहीं गई, सबसे ज्यादा हताशा होती है मुझे उस मेहँदी के पेड़ का रंग उतरते देख और इश्क़ भी लाल नहीं रहा अब…

हाँ! दिख तो रही है मुझे ये बर्बाद होती तस्वीर पर टंगा रहने देती हूँ मैं आज भी ‘बातों की पुरानी सी नयी पेंटिंग’ को क्यूँकि कैनवास मज़बूत है, यादों की तरह….

 

-अदिती चटर्जी 

 

Aditi Chatterjee
Aditi Chatterjee

529total visits,2visits today

One thought on “बातों की पुरानी सी नयी पेंटिंग | अदिती चटर्जी | #अनलॉकदइमोशन

Leave a Reply