Day: February 7, 2018

Poetry

मैं तकलीफें सह लूंगा | धर्मेंद्र सिंह | #अनलॉकदइमोशन

अंबर से बदरी छट जाये, फूलों की रंगत उड़ जाये जो रात न तन्हा कट पाये, पास मेरे आ जाना तुम बिस्तर पे तुम सो जाना, मैं सोफे पे ही रह लूंगा तुम आराम कोContinue reading

Wo Ladki | Mid Night Diary | Dharmendra Singh | #UnlockTheEmotion
Poetry

वो लड़की | धर्मेंद्र सिंह | #अनलॉकदइमोशन

वो पास वाले मेरे…घर में ही रहती थी न बोलती जुबां से, वो नैनों से कहती थी फिर एक दिन वो चली गई, मुझे बिन बताये हम घूमते थे फ़कीर से…दौलत लुटाये उसके जाने केContinue reading

Baaton Ki Purani Si Nayi Painting | Mid Night Diary | Aditi Chatterjee | #UnlockTheEmotion
Micro Tales

बातों की पुरानी सी नयी पेंटिंग | अदिती चटर्जी | #अनलॉकदइमोशन

बातों की पुरानी सी नयी पेंटिंग के कुछ रंग ज़रा चटकने लगे हैं, शायद मशरूफ है वो किसी दूसरे काम में… मैंने कोशिश की कुछ रंगो को और मिलाकर ठीक उसे वैसा ही करने कीContinue reading

kahin Na Kahin | Mid Night Diary | Anchal Shukla | #UnlockTheEmotion
Poetry

कहीं ना कहीं | आँचल शुक्ला | #अनलॉकदइमोशन

मेरे ना होने पर तुम्हें भी मेरी कमी तो खलेगी कहीं ना कहीं तुम कितना भी जताओ की तुम्हें कोई फ़र्क नहीं पड़ता फ़िर भी एक तपिश तो रहेगी कहीं ना कहीं मेरे ख़याल सेContinue reading

Poetry

पहली मुलाक़ात | आँचल शुक्ला | #अनलॉकदइमोशन

वो पहली मुलाक़ात हम थे कुछ पल साथ वो भी मुझे बार-बार झपकती हुई पलकों से अपनी आँखों में कैद कर रहे थे.. और मैं भी शरमा कर थोड़ी-थोड़ी उनमें गुम हो रही थी… दिलContinue reading

Tab Main Aazaad Kehlaau | Mid Night Diary | Gaurav Singh | #UnlockTheEmotion
Poetry

तब मैं आज़ाद कहलाऊँ | गौरव सिंह | #अनलॉकदइमोशन

फिर उठी आजादी की बात, हमने भी कह दिया हम आज़ाद है। जब नज़र पड़ी उन हाथो पर, उठाये थे बोझ कच्ची उम्र में, “क्या ये आज़ाद कहलाये है?” जब नज़र पड़ी उस तराज़ू पर,Continue reading

Chalo Bhikher Dete Hain | Mid Night Diary | Aradhana Shukla | #UnlockTheEmotion
Poetry

चलो बिखेर देते हैं | आराधना शुक्ला | #अनलॉकदइमोशन

चलो आज बिखेर देते हैं, तुम्हारे साथ बीता हर पल, हर लम्हा मन की पिटारी से निकालकर शायद ये उदास लम्हे फिर से खिलखिला उठें। चलो आज तुम्हारी बातों को फिर से दोहराते हैं तुम्हारीContinue reading

Adhoora Khwaab | Mid Night Diary | Ashwani Singh | #UnlockTheEmotion
Short Stories

अधूरा ख़्वाब | अश्वनी सिंह | #अनलॉकदइमोशन

तुम्हे जब पहली दफा देखा तो सोचा अपने दिल की कब्र खोद के फिर से अपनी मोहब्बत को जिंदा’ करू और लगा जो धागा पुरानी मोहब्बत के खातिर मजार. में बाँधा था उसकी बरकत आज़Continue reading

Poetry

ज़िन्दगी | मोहित चौहान | #अनलॉकदइमोशन

कैसी है ये ज़िन्दगी कभी अनजानों को पास लाती है, तो कभी अपनो को दूर ले जाती है, कभी खुशियों की बरसात तो कभी ग़मो का सेलाब लाती है ना जाने, कैसे कैसे रंग दिखातीContinue reading

Maa | Mid Night Diary | Mohit Chauhan | #UnlockTheEmotion
Poetry

माँ | मोहित चौहान | #अनलॉकदइमोशन

बस यही एक नाम याद आता है मुझे हर मुसीबत में कितना सुकून मिलता है जब आराम करता हूँ तेरी गोद में, सही क्या है, गलत क्या है, ये तूने ही तो बताया है, तूContinue reading