Day: January 28, 2018

Kab Milega | Mid Night Diary | Musafir Tanzeem
Poetry

कब मिलेगा | मुसाफिर तंज़ीम

दिल के हर कोने में ढूँढा मेरा यार कब मिलेगा लुटा के निकला था सब कुछ ये क़रार कब मिलेगा तलाश रहा हूँ जाने कहाँ कहाँ मेरे ग़मो का मुझको मज़ार कब मिलेगा हँस देतेContinue reading

Poetry

डिअर लव | प्रतिभा सिंह

जब ज़िन्दगी दर्द देगी.. तो तुम्हें मेरी याद तो आयेगी ना… खुशिया कितनी भी हो तब… तुम्हें खुद को सम्भालने के लिए.. मेरी जरूरत तो महसूस होगी ना… वक़्त बीत जायेगा कितना भी.. फिर भीContinue reading