Day: November 19, 2017

Ek Shaam | Mid Night Diary | Aman Singh | The Last Meeting
Benaam Khat

एक शाम | अमन सिंह | आखरी मुलाक़ात

याद है तुम्हें, कुछ हफ्तों पहले.. शाम के वक़्त साथ बैठे हुये, तुमनें मेरा हाथ अपने हाथ में ले लिया था और मैं बिना एक लफ्ज़ कहे, आँखों के अश्क़ों से कितना कुछ कह गयाContinue reading

Tum, Sirf Tum | Mid Night Diary | Saransh Shrivastva
Poetry

तुम, सिर्फ तुम | सारांश श्रीवास्तव

न जाने कौन सा रिश्ता है तुम्हारे और मेरे बीच शायद एक अनाम से रिश्ते के दरमियाँ हम तुम सफ़र कर रहे हैं कभी न ख़त्म होने वाला सफ़र एक रिश्ता ऐसा बन चुका हैContinue reading

Ek Kagaj | Mid Night Diary | Avnish Kumar | #UnmuktIndia
#OneGoOneImpact, #UnmuktIndia

एक कागज | अवनीश कुमार | #उन्मुक्तइंडिया

“कागज़ दिखाओ गाड़ी के” ऐसा बोल कर किसी चौराहे पर खड़ा पुलिस वाला आते जाते लोगो से चाय पानी का जुगाड़ कर लेता है। मै किसी नेता की तरह कागज़ की इस दशा पर बातContinue reading