Day: October 31, 2017

Poetry

खुदा का सौदा | अदिति चटर्जी

आहटों से टूटी नींद, मैं सहम गई, कभी इस कमरे कभी उस कमरे कभी यहाँ कभी वहाँ गई, हल्की फुलकी रौशनी थी, पाँचवे पे काँटा था, ‘रहने भी दो! कोई वहम होगा’ अभी तो मोहल्लेContinue reading

Tumhe Yaad Ho Ki Naa Yaad Ho | Mid Night Diary | Sumit Jha
Poetry

तुम्हे याद हो कि न याद हो | सुमित झा

तुम्हें याद हो कि न याद हो, कि आज की जैसी ही रातों में कभी कुछ सालों पहले मैंने तुमसे और तुमने मुझसे प्रेम किया था! तुम्हें याद हो कि ना याद हो, कि इसीContinue reading

Maithili Ki Prem Kahani | Mid Night Diary | Shreya Levy
Short Stories

मैथिलि की प्रेम कहानी | श्रेया लेवी

२५ सितम्बर २००० कॉलेज में एक नयी लड़की आयी थी, मैथिली। बहुत सुन्दर है वो, बाल लम्बे लम्बे काली घटा से लगते है। हर बार की तरह नए एड-मिशन वालो की रैगिंग का प्रचलन था,Continue reading