Day: October 29, 2017

Ishq Sarhad Paar Ka | Mid Night Diary | Hridesh Kumar
Poetry

इश्क़ सरहद पार का | हृदेश कुमार सूत्रकार

मुझे अब तो डर भी लगने लगा है .. कल खाना खाते वक़्त माँ ने मुझसे पूछा की अगर कोई लड़की पसंद हो तो बता दो ! सच कहु मैंने सर झुका कर मना करContinue reading

Intejar-e-Mulaqaat | Mid Night Diary | Manjari Soni
Micro Tales

इन्तजार-ए-मुलाक़ात | मंजरी सोनी

दबे पाव ख़ामोशी से ऊँची-नीची सीड़ियों से होते हुए ,तुम शहर के बाहर वाले टूटे-फूटे महल की छत पर आना ,मैं बना के लाऊँगी मैथि के पराँठे खटे मीठे निम्बू के अचार के साथ फिरContinue reading

Abhi Baaki Hai | Mid Night Diary | Aditi Chatterjee
Poetry

अभी बाकी है | अदिति चटर्जी

कुछ शिकायत, कुछ सवाल अभी बाकी है, मेरा होना थोड़ा और बुरा हाल अभी बाकी है, किसी शाम बैठ कर करेंगे इसपे बात कि एक और मुलाक़ात अभी बाकी है। पूछना है तुमसे कि वोContinue reading