Day: October 21, 2017

Aaj Ke Baad | Mid Night Diary | Prashant Sharma
Poetry

Aaj Ke Baad | Prashant Sharma

आज के बाद, आज की ये बात फिर न हो। तेरी कल की बात में मेरा ज़िक्र न हो। मेरी आज की रात में तेरी फ़िक्र न हो। कुछ यूँ जुदा हो हम दोनो, तुमContinue reading

Papa Ek Baat Btaao | Mid Night Diary | Hridesh Kumar Sutrakar
Poetry

Papa Ek Baat Btaao | Hridesh Kumar Sutrakar

पापा एक बात बताओ जब में पैदा हुआ तो क्या कोई साथ में लाया था, उस खत में मैंने नाम के संग क्या मजहब,जात किसीसे लिखवाया था। में किस राज्य का हूँ , या देशContinue reading