Day: September 19, 2017

Poetry

पर ज़िंदगी चलती रही | जय वर्मा

घड़ी-घड़ी , क्षण- क्षण , कदम-कदम , पर छलती रही। खुद ही बनाया गूमड़, और उसे मलती रही। कई बार घेरे निराशा, और ये खलती रही। अब है खत्म कहानी या बाकी, असमंजस में डुलतीContinue reading

Curse of Modernity - "Blue Whale Challenge Game" | Mid Night Diary | Roshan 'Suman' Mishra
Short Stories

कर्स ऑफ़ मॉडर्निटी – ‘ब्लू व्हले चैलेंज गेम’ | रौशन ‘सुमन’ मिश्रा

बात यही कुछ 7 से 8 साल पहले की है, मैं अपने रिस्तेदार के यहाँ कुछ दिनों के लिए गया था, उस वक्त उनके घर में बूढ़े दम्पति के अलावा उनकी एक पुत्रवधु और 6Continue reading