Day: September 7, 2017

Moujoodgi | Mid Night Diary | Vaidehi sharma
Benaam Khat, Love, Micro Tales

मौजूदगी | वैदेही शर्मा

हाँ, यहाँ अब भी सब कुछ है। ठीक वैसा ही जैसा तुम छोड़ गए थे। अगर कुछ तब्दील हुआ तो महज़ वो रात की दिन में तब्दीली और फिर उस दिन की रात में… ऐसाContinue reading

Short Stories

काश! मम्मी पापा मॉडर्न होते | अनुपमा वर्मा

काश मम्मी पापा माडर्न होते, ज्यादा नही बस इतने ही कि वो हर दिन झगडा करने के वक्त मेरे कान मे रूई डाल कर उन्हे बंद करने का रिवाज अपना लेते। पर ऐसा नही हैContinue reading