Day: September 6, 2017

Jajbaaton Ke Syaah | Mid Night Diary | Surbhi AnandJajbaaton Ke Syaah | Mid Night Diary | Surbhi AnandJajbaaton Ke Syaah | Mid Night Diary | Surbhi Anand
Love, Poetry

जज्बातों के स्याह | सुरभि आनंद

दरकती हुई दिल की गलियो में तुम मोड़ लेने आए थे मेरे अंदर तुम्हारा उत्साह ही नहीं जो मेरी ओस को जगा रहे हो, क्यूँ बहाना कर रहे हो, दुआओं-का मुझे खुशी नस्तर-सी चुभती है।Continue reading