Day: August 27, 2017

Love, Poetry

Dharti Aakash Ka Aalingan

इतनी मोहाब्बत न करो मुझसे कहीं मैं डूब न जाऊँ समुद्र में उफनती लहरों की तरह कहीं खुद में से उफन तुझमें न गिर जाऊँ ! मोहाब्बत में तेरे आस्था की खुशबू थी तेरे कंधेContinue reading