Day: August 5, 2017

Kaanch | Friendship Day Special | Aman Singh | अमन सिंह
Short Stories

कांच | अमन सिंह | फ्रेंडशिप डे स्पेशल

लोगों का यह कहना कि मैं पत्थर हो गया हूँ, अब नहीं खलता और न ही अब कोई फर्क पड़ता है, इस बात से कि कोई क्या कहेगा? क्या सोचेगा? कभी सूरज को ढलते हुएContinue reading