Day: July 25, 2017

लेकिन तब तक...
Love, Short Stories

लेकिन तब तक | आकाश शुक्ला | अस्तित्व

तुम्हारे साथ यहाँ, इस बहती नदी के पुल पर बैठ कर सूरज को खुले आसमां में अपने पंख खोलते देखना चाहती थी, लेकिन तुम्हारे बाद अब सिर्फ इसको बादल के समन्दर में डूबता हुआ देखनाContinue reading